दिल्ली सल्तनत के महत्वपूर्ण शासक और उनसे जुड़ी जरुरी जानकारी

शासक जानकारी
बलबन
  • उसका वास्तविक नाम बाहरुद्दिन था ।
  • उसे गुलाम वंश का सबसे महान सुल्तान माना जाता है ।
  • वह सुल्तान इल्तुतमिश का खरीदा हुआ एक गुलाम था ।
  • उसने ज़मीनबोश (सम्राट के सन्मुख साष्टांग लेटना) की फारसी प्रथा शुरु की ।
  • उसने विद्रोहियों, धोखेबाज और लुटेरों के खिलाफ रक्त और तलवार की नीति अपनाई ।
  • मंगोलों को हराने पर उसे उलघ खान का खिताब दिया गया ।
  • उसने मेवात की विद्रोही जनजाति बियो , जो दिन में भी दिल्ली के लोगों को लूट लिया करती थी, का दमन किया ।
  • बलबन ने बहुत शक्ति के साथ शासन किया। उसने चहलगानी , 40 तुर्की सरदारों के समूह, को समाप्त कर दिया ।
अला-उद-दीन खिलजी
  • वह भारत में खिलजी वंश का दूसरा शासक था और अपने वंश का सबसे शक्तिशाली शासक माना जाता है ।
  • वह अपने चाचा जलालुद्दीन खिलजी की हत्या के बाद सुल्तान बना ।
  • अपने अनुयायियों से किसी भी विद्रोह को रोकने के लिए उसने एक प्रभावी जासूसी प्रणाली स्थापित की ।
  • एक स्थायी सेना रखने वाला वह पहला सुल्तान था ।
  • वह दक्षिण भारत पर जीत हासिल करने वाला पहला सुल्तान था.
  • उसने सिरी नाम से तीसरी दिल्ली की स्थापना की ।
  • वह आर्थिक सुधारों और मूल्य नियंत्रण प्रणाली के लिए जाना जाता है ।
  • अलाउद्दीन खिलजी ने प्रसिद्ध कोहिनूर हीरा मालवा के शासक से छीन लिया ।
गियास-उद-दीन तुगलक
  • उसका वास्तविक नाम गाजी मलिक था ।
  • उसने तुगलकाबाद शहर की स्थापना की ।
  • उसकी मृत्यु उसके लिए बनाए गए एक मंडप ढहने की वजह से हुई ।
मुहम्मद बिन तुगलक
  • उसका वास्तविक नाम जौना खान था ।
  • वह तर्क, दर्शन, गणित, खगोल विज्ञान और भौतिक विज्ञान में निपुण विद्वान था । उसे चिकित्सा का ज्ञान था और द्वंद्ववाद में भी निपुण था । वह एक सुलेखक भी था । वह तुर्की, फारसी, अरबी और यहां तक कि संस्कृत जैसे कई भाषाओं से अच्छी तरह से वाकिफ था ।
  • उसने टोकन मुद्रा की शुरुवात की जिसमे कोषागार के चांदी या सोने के द्वारा समर्थित पीतल या तांबे के सिक्कों का उपयोग किया गया । परंतु इससे कोषागार को भारी नुकसान हुआ ।
  • उसने अपनी राजधानी दिल्ली से देवगिरी स्थानांतरित की और उसे दौलताबाद नाम दिया, लेकिन उसकी योजना विफल होने के कारण राजधानी को फिर से दिल्ली स्थानांतरित कर दिया गया है ।
  • इब्न बतूता, प्रसिद्ध मोरक्को यात्री ने उसके शासनकाल के दौरान भारत का दौरा किया ।
फिरोज शाह तुगलक
  • वह दीपालपुर की एक हिंदू राजकुमारी का पुत्र था ।
  • वह नहरों के नेटवर्क के निर्माण के लिए जाना जाता है ।
  • उसने जौनपुर, फिरोजपुर, फिरोज शाह कोटला और हिसार-फिरोज़ा सहित कई शहरों की स्थापना की ।
  • उसने 1368 ई० में बिजली से क्षतिग्रस्त हुई कुतुब मीनार के ऊपर दो मंजिलों का पुनर्निर्माण करवाया ।
  • उसका कुशक महल के नाम का एक शिकारगाह दिल्ली के तीन मूर्ति भवन परिसर के भीतर स्थित है ।
  • दिल्ली की एक सड़क तुगलक रोड उसी के नाम पर है ।
सिकंदर लोधी
  • उसने आधुनिक शहर आगरा की स्थापना की ।
इब्राहिम लोदी
  • दिल्ली का आखरी सुल्तान, जो 1526 में बाबर के खिलाफ पानीपत के पहली लड़ाई में मारा गया ।